Saturday, 7 December 2019

गर्भावस्था में व्यायाम के फायदे







कुछ लोगो का कहना है की गर्भवती महिला को व्यायाम नहीं करना चाहिए पर विशेषज्ञों की मानें तो इस दौरान व्यायाम करना मां और बच्चे दोनों के लिए ही बहुत फायदेमंद होता है. विशेषज्ञों का कहना है व्यायाम करते रहने से नॉर्मल डिलीवरी होने के चांसेज बढ़ जाते हैं. इसके साथ ही डिलीवरी के बाद महिला को दोबारा शेप में आने में भी ज्यादा समय नहीं लगता है.


➽वजन नियंत्रित रहता है. हालांकि गर्भावस्था में वजन बढ़ना तय है लेकिन व्यायाम करते रहने से फिटनेस बनी रहती है.

➽गर्भावस्था में अक्सर महिलाओं को नींद न आने की शिकायत हो जाती है. ऐसे में व्यायाम करने से नींद अच्छी आती है.





➽व्यायाम करते रहने से डिलीवरी के बाद दोबारा शेप में आना ज्यादा आसान हो जाता है.
➽गर्भावस्था में व्यायाम आपका उच्च रक्तचाप गर्भावस्था  का मधुमेह और सिज़ेरियन ऑपरेशन की सभावना को भी कम करता है।
➽नियमित तौर पर एरोबिक व्यायाम करना जैसे कि वॉकिंग, स्विमिंग और हल्के  एरोबिक्स प्रसव प्रक्रिया की अवधि कम करने और शिशु का जन्म आसानी से होने में मदद करते हैं।

➽गर्भावस्‍था के दिनों में थकान काफी ज्‍यादा रहती है। शुरूआत के तीन महीने बहुत ज्‍यादा थकान महसूस होती है। ऐसे में अगर आप नियमित रूप से डॉक्‍टरी सलाह को मानकर एक्‍सरसाइज करें, तो आपको काफी लाभ होगा। वॉक करने से भी आपको इस दौरान काफी लाभ मिलेगा।








➽गर्भावस्‍था के दौरान कई महिलाओं को कब्‍ज की समस्‍या हो जाती है। इसके लिए जरूरी है कि आप हर दिन 30 मिनट वॉक करें। वॉक करने से पाचन क्रिया में इज़ाफा होता है और कब्‍ज की समस्‍या से राहत मिलती है।

No comments:

Post a comment