• Sunday, 4 August 2019

    सेहत का ख़ास ख्याल कैसे रखे बरसात में







    मौसम बदलने के साथ वातावरण में भी कई तरह के परिवर्तन आते है, जिनका असर आपके शरीर पर भी पड़ता है कुछ  बातों पर ध्यान देकर आप बारिश के मौसम में होने वाली छोटी मोटी परेशानियों से बच सकते है गरमी के बाद बरसात का आना तनमन को सराबोर कर जाता है, क्योंकि गरमी से राहत जो मिलती है. लेकिन मौनसून का यह मौसम अपने साथ बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी लाता है मौसम के अनुसार ,मिलने वाले ताज़े फल व सब्जियों का दैनिक इस्तेमाल करें इनके सेवन करने से आपके शरीर को कई तरह के पोषक तत्व मिलता मौसम में घर के आसपास व घर के अंदर सफाई का पूरापूरा खयाल रखें. कहीं भी पानी न भरा रहे क्योंकि जमा पानी में मक्खी-मच्छर, कीड़ेमकोड़े पैदा होते हैं, जिन से डायरिया, हैजा डेंगू, चिकनगुनिया व त्वचा संबंधी बीमारियां फैलने का डर बना रहता है. वैसे तो ये बीमारियां सभी के लिए जानलेवा सिद्ध हो सकती हैं,बरसात के 


    बच्चो की केयर 








                     
       बरसात के मौसम में बच्चों के खाने का भी विशेष खयाल रखें. उन्हें हलका, ताजा, सुपाच्य खाना दें. मौसमी फलों का सेवन भी जरूर कराएं. हरी सब्जियों व ताजे फलों को साफ पानी से अच्छी तरह धो कर ही बच्चों को खिलाएं. उन्हें सड़कों के किनारे मिलने वाले खुले खाद्यपदार्थों को न खाने दे. 


    बालो की देख भाल 
                 
                बरसात के दिनों में बालों को पोषण देने के लिए आपको बालों की जड़ में अच्छे से मसाज करनी चाहिए, ऐसा करने से आपके बालों को मजबूती मिलती है, जिसके कारण बालों के झड़ने की सम्भावना कम रहती है










    बरसात में त्वचा को कैसे हेल्थी रखे 
                     
                         बरसात के मौसम में ज्यादातर बीमारियां गंदगी की वजह से ही फैलती हैं. ऐसे में जरूरी है कि आप अपने हाथ, चेहरे और पैरों को समय-समय पर साफ करते रहें. कोशिश करें कि दिन में दो बार किसी अच्छे फेस वॉश से चेहरा साफ करें बरसात के बाद जब धूप होती है तो बहुत ही तीखी होती है. धूप में निकलना हो तो बिना सनस्क्रीन लगाए नहीं निकलें. सनस्क्रीन से त्वचा अल्ट्रा वायलेट किरणों से सुरक्षित रहेगी. 

    No comments:

    Post a Comment