• Friday, 23 August 2019

    अंधविश्वास क्या होता है







    हमारे देश  जहाँ आज के तकनीकी युग में भी लोगों द्वारा कई      अंधविश्वास माने जाते हैं. बगैर ये जाने कि इसके पीछे की वजह क्या है। चूंकि पीढ़ियों से लोग इसे मानते आ रहे हैं, इसलिए ये परंपरा आज भी चल रही है। कुछ नियमों को हम डर से मानते हैं और कुछ को बिना किसी तर्क के मानते हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे पुराने समय से चले आ रहे नियमों को जिसे अंधविश्वास भी कहते हैं

    काली बिल्ली रास्ता काट दे तो अशुभ 

    आज के ज़माने में भी कितने लोग इस बात पर यकीन करते हैं की अगर वो किसी अच्छे काम के लिए जा रहे हो, और काली बिल्ली रास्ता या सड़क पार करे तो, उनका काम नहीं बनता।  इस विश्वास के पीछे कोई सच्चाई नहीं हैं। कितने लोग ही इसे सच नहीं मानते और उनके साथ कुछ बुरा या अशुभ घटित नहीं होता। उसी समय अगर किसी के साथ कोई घटना हो जाए, तो उनका विश्वास गहरा हो जाता हैं की इसके पीछे काली बिल्ली का हाथ हैं







    दुकान के बाहर नींबू-हरी मिर्च लटकाना


    हमने बहुत से लोगो अपनी दुकान के बाहर नींबू-मिर्ची लटकाते देखा  ऐसा कहा जाता है कि उससे बुरी नज़र नहीं लगती और नकारात्मक शक्तियां बाहर ही रहती हैं। दरअसल नींबू और मिर्ची को जिस कपास के धागे में बांधा जाता है वो जब ताजा होता है, तब एसिड को सोखता है और ये एक कीटनाशक की तरह काम करता है। दुकान के बाहर ये टांगने पर कीट  दूर रहते हैं।

    ➨कांच टूटना 

    कांच टूटने को लेकर लोगों का मानना है कि अगर किसी शुभ अवसर पर कांच, आइना या कांच की कोई वस्तु टूट जाए तो कुछ अपशकुन होने वाला है। वहीं कुछ का मानना है कि कांच टूटना शुभ होता है ये किसी अच्छी घटना होने का संकेत है।








    पीरियड्स के दौरान महिलाएं अशुद्ध हो जाती हैं

    देश के कई हिस्सों में आज भी ऐसी मान्यता है कि पीरियड्स के दौरान महिलाएं अशुद्ध हो जाती हैं इसलिए मंदिर जाने से लेकर पूजा और कई अन्य काम उनके लिए वर्जित होते हैं। जबकि सच ये है कि पुराने जमाने में महिलाओं को उन पांच दिनों में आराम करने के लिए काम से दूर रखा जाता था, न कि अशुद्ध होने के कारण।

    रात समय झाड़ू लगाने से घर की लक्ष्मी चली जाती हैं

    वैसे तो साफ-सफाई करना अच्छा ही होता है, लेकिन वास्तु शास्त्र में उसके लिये कुछ समय पहले से निर्धारित है। जिस तरह सफाई का उचित समय तय है, ठीक उसी तरह सफाई ना करने का, यानि झाडू ना लगाने का भी समय दिया गया है। वास्तु शास्त्र में घर में झाडू लगाने के लिये दिन के पहले चार पहर को उचित समय माना गया है। जबकि रात के चार पहर को इस काम के लिये अनुचित माना गया है रात के चार पहरों में झाडू लगाने से घर में दरिद्रता अपने पैर पसारती है और धन की देवी लक्ष्मी रूष्ठ हो जाती है। जिससे घर में धन की आवक पर प्रभाव पड़ता है।
    रात के समय नाख़ून या बाल नहीं काटना








    नाखून न काटें- बहुत से लोगों की आदत होती है कि दिन में समय नहीं मिले तो रात में ही नाखून काटने बैठ जाते हैं, लेकिन रात को नाखून काटना अशुभ माना जाता है। इसी प्रकार नाखून काटकर तुरंत स्नान करना भी अपशकुन माना जाता है। नाखून काटकर स्नान तब किया जाता है, जब घर परिवार में किसी की मृत्यु होती है। रात में नाखून काटने से लक्ष्मी घर से चली जाती है और स्वास्थ्य की हानि होती है। 5. बाल भी न काटें- रात के समय बाल काटना भी उचित नहीं माना जाता है। कहा जाता है इससे घर में अलक्ष्मी का निवास होता है।इसे स्वास्थ्य भी ठीक नै रहता है 

    No comments:

    Post a Comment