• Tuesday, 14 November 2017

    मच्छर के बारे में अनोखी बाते


    आप सभी को पता होगा की बारिश का मौसम बहुत पसंद है पर यह बारिश अपने साथ अनेको मच्छर को भी लेकर आती है जो हजारो बीमारिया का घर होते है आइये आपको विस्तार से बताते है हम मच्चर के बारे में | 

    मच्छरो की ४००० से भी ज्यादा प्रजातियां धरती पर पायी जाती है |

    मच्छरो की प्रजातियां घरती पर लगभग करोड़ साल पहले आयी थी | 






    मादा मच्चर ही खून चूसते है नर मच्चर नहीं  नर मच्चर सिर्फ शिकार करते है | 


    मादा  मच्चर की जिंदगी २० महीने की होती है | 

    नर  मच्चर की जिंदगी मादा मच्चर की अपेछा बहुत कम किन की होती है  १५ दिनों की | 

    आपको पता है मादा मच्चर  वजन से ३ गुना ज्यादा खून चूस सकते है | 

    १  में मच्चर  अपने पंख फड़फड़ा सकते है |

     मच्चर नए बच्चे तब तक  पैदा कर सकते जबतक उनको खून नहीं मिलता है 



     मच्छरो के काटने से डेंगू जैसे बीमारिया हो जाती है इसे इंसानो की मृत्यु  जाती है | 







    केला खाने वाले इंसानो की तरफ मच्चर ज्यादा आकर्षित होते है | 

    क्या आपको  मादा मच्चर ३ दिन मर सिर्फ १ बार ही खून चूसता है | 


     मच्छरो  की सारी  प्रजातियां सिर्फ इंसानो के ही खून नहीं पीती बल्कि कुछ प्रजातियां छिपकली मेडक आदि   भी खून चूसते है | 

    नर व् मादा मछरेक दूसरे में उनके पंखो की आवाज से पहचानते है |

    मच्चर इस घरती पर पाए जाने वाले जीवो में सबसे खातरनाक जीव है इनके काटने  लाख से भी ज्यादा लोगो मर चुके है |

     मच्चर के काटने से डेंगू मलेरिया जैसी बीमारिया होती है |

    No comments:

    Post a Comment